informationOperating System क्या है, इसके कार्य, लिस्ट और उदाहरण | operating system...

Operating System क्या है, इसके कार्य, लिस्ट और उदाहरण | operating system in Hindi

What is Operating System in hindi ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है

Operating System एक System Software है । यह एक कन्ट्रोल प्रोग्राम होता है । इसका संक्षिप्त नाम OS है । जो यूजर और कम्प्यूटर मशीन के बीच संवाद स्थापित करता है । ऑपरेटिंग सिस्टम और कम्प्यूटर हार्डवेयर एक दूसरे के पूरक होते है । बिना ऑपरेटिंग सिस्टम के कम्प्यूटर की कल्पना नहीं की जा सकती है ।
 यह परिवार के मुखिया की तरह होता हैं । जिस तरह परिवार का मुखिया पूरे घर पर कन्ट्रोल करता है । उसी प्रकार ऑपरेटिंग सिस्टम कम्प्यूटर को नियंत्रित करता है । 
ऑपरेटिंग सिस्टम कम्प्यूटर हार्डवेयर और यूजर के बीच का प्रोग्राम होता है । यह यूजर के निर्देशों को कम्प्यूटर तक कम्प्यूटर की भाषा में पहुँचाता है और कम्प्यूटर के परिणाम को यूजर तक यूजर की भाषा में देता है अर्थात् यह एक मास्टर प्रोग्राम होता है। कम्प्यूटर स्टार्ट के बाद कम्प्यूटर में दूसरे अन्य एप्लीकेशन प्रोग्राम इंस्टाल किये जाते है ।
 

कुछ महत्त्वपूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम ( Some Important Operating System )

 1. एम.एस. डॉस MS – DOS ( Disc Operating System ) :

 Ms dos व्यापक रूप से पर्सनल कम्प्यूटर में स्थापित माइक्रोसॉफ्ट का प्रथम operating system था । वह ( Non Graphical ) , CUI ( Command User Interface ) कमांड लाइन आपरेटिंग सिस्टम है । 

2. एम.एस. विण्डोज ( Microsoft Windows ) :

 Microsoft Windows माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विकसित व ग्राफिकल यूजर इंटरफेस ( GUI – Graphical User Interface ) ऑपरेटिंग सिस्टम है ।
 Eg . Window 95 , Windows 98 , Windows XP , Win dows Vista , Windows 7 , Window 8 

3. यूनिक्स ( UNIX ) : 

Unix सन् 1969 में AT & T कर्मचारियों ( Employees ) द्वारा बेल प्रयोगशाला में विकसित ऑपरेटिंग सिस्टम है । Ken thompson , Dennis Ritcnic , Developer Douglos Mcllroy

4.लाइनक्स ( LINUX ) : 

 Linux का प्रथम संस्करण 1991 में लाया गया था । यह यूनिक्स के तरह कम्प्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम है । जो लाइनक्स करनल ( Linux Kernal ) पर आधारित है । 

Microsoft Windows ( माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ) 

1. Microsoft Windows , पर्सनल कंप्यूटर के लिए माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विकसित एक ऑपरेटिंग सिस्टम है । माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स तथा पॉल एलेन है । यह  Multi programing vir tual memory , GUI ( Graphical user interface ) , की सुविधा देता है । 

2. Microsoft Windows का प्रथम संस्करण 1.0 20 नवम्बर , 1985 को आया , जिसे इंटरफेस मैनेजर के नाम से जाना जाता है ।

 Eg.

  • Windows 95 ( 1995 )
  • Windows XP – ( 2004 )
  • Windows 98 ( 1998 )
  • Windows ME – ( 2000 )
  • Windows Vista – ( 2007 )
  • Windows 7
  • Window 8 
  • Windows 8.1
  • Windows 10

ऑपरेटिंग सिस्टम के फक्शन (Function of Operating System)

 1.रिसोर्स मैनेजमेंट ( Resource Management)

कम्प्यूटर के लिए सभी सर्विसेज को उपलब्ध करवाता है जिनमें मुख्यत : मेमोरी मैनेजमेंट , प्रोसेस मैनेजमेंट , डिवाइस मैनेजमेंट आदि होते हैं । एक ऑपरेटिंग सिस्टम कई बेसिक कार्य को करता है जैसे कि कन्ट्रोलिंग और मेमोरी एलोकेशन इनपुट , आउटपुट डिवाइस को कंट्रोल नेटवर्किंग को मजबूत करना , फाईल सिस्टम मैनेज करना , हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की शेयरिंग को अलाउ करना , एप्लीकेशन साफ्टवेयर को पोर्टेबल बनाना , यूजर प्रोग्राम के बीच सिक्योरिटी और प्रोटेक्ट करना , एरर को ढूँढना , फॉल्ट को कम करना , रिकोनफिगर करना । 

2.एप्लीकेशन और यूजर के बीच इंटरफेस ( Interface Between Application and Users)

ऑपरेटिंग सिस्टम एक यूजर के लिए इंटरफेस की तरह कार्य करता है ।

3.प्रोग्राम एक्यूकशन ( Programme Eeducation )

एप्लीकेशन प्रोग्राम और मशीन हार्डवेयर के बीच इंटरफेंस की तरहर कार्य करता है ।

ऑपरेटिंग सिस्टम के कार्य ( Works of Operating System )

 ऑपरेटिंग सिस्टम को कई कार्य करने की आवश्यकता होती है। मूल रूप से ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा निम्नलिखित कार्य संपादित किया जाना आवश्यक होता है । 

1.इनपुट , आउटपुट , ऑपरेशन्स तथा जॉब्स को शेड्यूल एवं कंट्रोल करना ।

2. इनपुट को कीबोर्ड से मेमोरी स्थानांतरित करना । 

3.पेरिफेरल डिवाइसेस को उनकी उपलब्धता के अनुसार प्रर्बोध त करना तथा प्रोग्राम्स को आवंटित करना । यह पेरिफेरल डिवाइसेस जैसे प्रिंटर्स , हार्ड – ड्राइव , मॉनीटर तथा अन्य डिवाइसेस से उनके उपयोग तथा सेवाओं के लिए संपर्क स्थापित करता है ।

4. प्रोसेसिंग तथा क्रियान्वयन में मेमोरी के आवंटन तथा अनावंटन को प्रबंधित करना । यह वर्चुअल मेमोरी तथा मुख्य मेमोरी के बीच डायनामिक एड्रेस ट्रांसलेशन को भी प्रबंधित करता है ।

5. बाह्य मेमोरी में डेटा तथा प्रोग्राम्स को स्टोर करना ।

6. डेटा तथा फाइल्स को लोकेट तथा एक्सेस करना ।

7. स्टोरेज डिवाइसेस से मुख्य मेमोरी में प्रोग्राम्स तथा पेकेजेस के लोडिंग तथा अनलोडिंग के द्वारा जॉब्स केफ्लो को नियंत्रित करना । 

8.यूजर प्रोग्राम्स तथा कमाण्ड्स को नियंत्रित करना ।

9. कार्यकारी मेमोरी को सुरक्षा प्रदान करना तथा इसके अधि कतम उपयोग को सनिश्चित करना ।

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार (types of operating system)

वर्तमान में अनेक प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम प्रचलन में है तथा इनका विकास कम्प्यूटर जेनरेशन तथा मॉडल्स के समानान्तर विभिन्न चरणों में हुआ है । विभिन्न ऑपरेटिंग सिस्टम्स विभिन्न प्रकार के कम्प्यूटर ऑपरेशन्स की क्षमता प्रदान करते हैं । ऑपरेटिंग सिस्टम को विभिन्न शीर्षकों में वर्गीकृत किया जा सकता है 
1. बैच प्रोसेसिंग
2. मल्टी टास्किंग
3. टाइम शेयरिंग
4. रियल टाइम तथा ऑनलाइन
5. इंटरएक्टिव प्रोसेसिंग
6. डिस्ट्रीब्यूटेड डाटा प्रोसेसिंग तथा नेटवर्किंग
7. मल्टी यूजर सिस्टम
8. मल्टिप्रोसेसिंग तथा पैरेलल प्रोसेसिंग
9. मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम

Latest article

More article