EducationNCF 2005 | National Curriculum Framework 2005 | ncf 2005 pdf in...

NCF 2005 | National Curriculum Framework 2005 | ncf 2005 pdf in hindi

ncf 2005 in hindi , National Curriculum Framework – 2005 , ncf 2005 pdf , Summary of NCF 2005 PDF ,

NCF 2005 शिक्षण अधिगम प्रक्रिया मुख्य रूप से पाठ्यक्रम पर निर्भर करती है । वास्तविक रूप से पाठ्यक्रम ही वह साधन है जो कि अध्यापक तथा विद्यार्थियों का मार्गदर्शन करता है ।

NCF 2005 का परिचय 

  • NCF के अनुसार शिक्षा का उद्देश्य बालक जीवन का अर्थ समझ सके।
  • मूल्य जो शांति , मानवता व सांस्कृतिक विविधता वाले समाज के सहिष्णुता को बढ़ावे ।
  • बच्चे ज्ञान के ग्रहणकर्ता मात्र है पाठयपुस्तक के परीक्षा का आधार है इस धारणा को बदलना है।
  • यांत्रिक सीखना बच्चे का सुख छीन लेता है ।
  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1986 राष्ट्रीय शिक्षाक्रम के एक सामान्य केन्द्र की बात करती है जिसमें लचीलापन होगा जिसे स्थानीय पर्यावरण व परिवेश के अनुसार ढाला जा सकेगा । इसकी बात NCF 2005 भी करता है ।
  • N.C.F. 2005 – सार्वभौमिक प्रारम्भिक शिक्षा पर बल देता है पाठ्यचर्या में ज्ञान , कार्य शिल्प की परम्परा को शामिल । पर्यावरण पोषण , शांति को जीवन शैली के रूप में अपनाना । बच्चों के आत्म सम्मान , नैतिकता , रचनात्मकता का विकास ।
  • जेपी नायक ने समानता , गुणवत्ता व परिमाण का भारतीय शिक्षा का दुर्गाह्य त्रिकोण बताया था
  • ncf 2005 , POA 1992 के तीन तत्वों को समाहित करता है प्रासंगिकता , लचीलापन व गुणवत्ता

पाठ्यक्रम का अर्थ Meaning of curriculum

करीकुलम Curriculum शब्द की उत्पत्ति लैटिन भाषा के क्यूररे ( Currere ) से हुई है जिसका शाब्दिक अर्थ होता है  दौड़ का मैदान । अर्थात पाठ्यक्रम दौड़ का वह मैदान है जिस पर बालक लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए दौड़ता है ।

कनिंघम ” पाठ्यक्रम कलाकार ( शिक्षक ) के हाथ में एक यन्त्र है जिससे वह अपनी सामग्री ( विद्यार्थी ) को अपने आदर्श ( लक्ष्य ) के अनुसार , अपने कलागृह ( विद्यालय ) में मोड़ता है | “

  • राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा प्रोफेसर यशपाल के नेतृत्व में तैयार की गई ।
  • राष्ट्रीय पाठ्यचर्या दस्तावेज का प्रारंभ प्रसिद्ध शिक्षाशास्त्री , राष्ट्रीय गान के निर्माता तथा नोबल पुरस्कार विजेता रविन्द्रनाथ टैगोर के निबंध सभ्यता और प्रकृति के एक उद्वरण से हुआ है ।

NCF – 2005 का मुख्य सूत्र 

Learning without Burden ( बिना बोझ के सीखना )

राष्ट्रीय पाठ्यचर्या संरचना 2005 की विशेषताएं और उद्देश्य Characteristics and Objectives of National Curriculum Framework [ NCF 2005 ] 

1. इस पाठ्यचर्या की संरचना में पर्यावरणीय शिक्षा को महत्वपूर्ण स्थान दिया गया ।

2. नवीन शिक्षण विधियों के प्रयोग पर बल ।

3. बाल केन्द्रितता को महत्वपूर्ण स्थान ।

4. छात्रों का सर्वांगिण विकास पर बल ।

5. नवीन तकनीकी के प्रयोग को मान्यता ।

6. आवश्यकतानुसार परिवर्तन का प्रावधान ।

7. पाठ्य सहगामी क्रियाओं की अनिवार्यता ।

8. शिक्षा को व्यावसायोन्मुखी बनाने का प्रयास ।

9. मानसिक स्तर एवं योग्यता के अनुसार पाठ्यक्रम का निर्धारण

10. गुणवत्ता आयाम में बालकों के लिए संरचित अनुभव व पाठ्यक्रम सुधार को महत्व ।

11. शांति शिक्षा को बढ़ावा ।

12. महिलाओं के प्रति आदर एवं जिम्मेदारी का दृष्टिकोण विकसित करने के कार्यक्रम का आयोजन करना ।

13. परीक्षा प्रणाली में सुधार का आयोजन ।

14. निरन्तर व व्यापक मूल्यांकन

15. बच्चों में तार्किक चिन्तन तथा समस्या समाधान की योग्यता का विकास करना ।

16. बालकों के ज्ञान को विद्यालय के बाहरी जीवन से जोड़ना ।

17. पढ़ाई रटन्त प्रणाली से मुक्त हो यह सुनिश्चित करना ।

18. बालकों के चहुंमुखी विकास पर आधारित पाठ्यचर्या हो ।

19. सभी विद्यार्थियों हेतु समावेशी वातावरण तैयार करना ।

20. गणित की बेहतर शिक्षा का हक हर बच्चे का होना चाहिए क्योंकि इससे बच्चों में समस्या समाधान की क्षमता का विकास होता है ।

21. सामाजिक विज्ञान की विषय वस्तु में अवधारणात्मक समझ पर ध्यान दिया जाये , जिससे बच्चों में सामाजिक मुद्दों पर स्वतंत्र तथा आलोचनात्मक दृष्टिकोण विकसित हो सके ।

22. विभिन्न कलाओं जैसे संगीत नृत्य , कला , मिट्टी की कला आदि को पाठ्यचर्या में सम्मिलित करना ।

23. स्वास्थ्य एवं शारीरिक शिक्षा को विद्यालयी शिक्षा का अनिवार्य भाग बनाया जाये ।

24. बच्चों को चहुंमुखी विकास के अवसर दिये जाये ।

ncf-2005 के अनुसार शिक्षण विधियां

  1. करके सीखना।
  2. निरीक्षण करके सीखना।
  3. परीक्षण करके सीखना।
  4. सामूहिक विधि द्वारा सीखना।
  5. मिश्रित विधि द्वारा सीखना।

ncf 2005 in hindi pdf

Latest article

More article