Bankingमोबाइल बैंकिंग क्या हैं कैसे काम करता हैं लाभ हानि, बैंकिंग एप...

मोबाइल बैंकिंग क्या हैं कैसे काम करता हैं लाभ हानि, बैंकिंग एप लिस्ट | Mobile banking Information in hindi

मोबाइल बैंकिंग क्या हैं कैसे काम करता हैं लाभ हानि, बैंकिंग एप लिस्ट (Mobile banking Information in hindi)

जब से दुनिया में इंटरनेट का प्रभाव बढ़ा है तब से लोगों को हर चीज में काफी सुविधा हुई है खासकर बैंकिंग की दुनिया में पहले बैंकिंग से संबंधित लोगों को बहुत परेशानी होती थी लेकिन जब से इंटरनेट की सुविधा बढ़ी है। लोगों को लेन देन में काफी सुविधा हुई है। इसी बैंकिंग की दुनिया में सबसे ज्यादा यूज होने वाली मोबाइल बैंकिंग है जिससे लोग आराम से घर बैठे पैसे भेज सकते हैं या कहीं से भी पैसे प्राप्त कर सकते हैं इसके अलावा घर बैठे हैं बैंक का कार्य कर सकते हैं। जब से मोबाइल बैंकिंग का प्रचलन बढ़ा है लोगों के सभी आवश्यक कार्य मोबाइल से ही हो जाते हैं और लोगों को बैंक में जाना नहीं पड़ता है मोबाइल बैंकिंग ने लोगों के जीवन को बहुत आसान बना दिया है और उन्हें अपने बैंक अकाउंट से संबंधित कोई भी कार्य करना हो वे मोबाइल से ही कर सकते हैं। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि मोबाइल बैंकिंग क्या है, मोबाइल बैंकिंग कैसे कार्य करता है, मोबाइल बैंकिंग के लाभ एवं नुकसान तो आइए शुरू करते हैं।

मोबाइल बैंकिंग क्या है? (What is mobile banking in Hindi)

मोबाइल बैंकिंग में मोबाइल फोन से पैसों का लेनदेन किया जाता है मोबाइल बैंकिंग डायरेक्ट बैंक अकाउंट से जुड़ा हुआ होता है जिससे आसानी से लेनदेन किया जा सकता है। मोबाइल बैंकिंग का संबंध केवल बैंक खाते से होता है जिससे आप आसानी से लेनदेन कर सकते हैं इसके साथ-साथ और भी अनेक कार्य है यह मोबाइल बैंकिंग से कर सकते हैं। मोबाइल बैंकिंग से लेनदेन आप घर बैठे बैठे कहीं भी किसी को भी कर सकते हैं। मोबाइल बैंकिंग से लेनदेन करने वालों को बैंक जाने की जरूरत भी नहीं होती है और ना ही जेब में पैसे रखने की जरूरत होती है।

मोबाइल बैंकिंग के लिए स्मार्टफोन होना आवश्यक है आप अपने स्मार्टफोन की मदद से आराम से बिना किसी टेंशन के मोबाइल बैंकिंग का कार्य कर सकते हैं। मोबाइल बैंकिंग के लिए आप को बैंक से देख यूजर आईडी लेना होता है वह एक मोबाइल पिन (MPIN) लेना होता है।

मोबाइल बैंकिंग सेवाओं के प्रकार

बैंक ग्राहकों को अनेक प्रकार से मोबाइल बैंकिंग की सेवाएं उपलब्ध करवाता है जो निम्नलिखित हैं।

  • s.m.s. पर मोबाइल बैंकिंग
  • वॉयरलैस एप्लीकेशन प्रोटोकोल (WAP) पर मोबाइल बैंकिंग
  • अनस्ट्रक्चर्ड सप्लीमेंट्री सर्विस डेटा (USSD) पर मोबाइल बैंकिंग

मोबाइल बैंकिंग के लाभ

मोबाइल बैंकिंग की विशेषताएं और लाभ निम्न है।

  • मोबाइल बैंकिंग काफी सुविधाजनक है इसमें मोबाइल के माध्यम से ही हम बैंक से संबंधित अपने कार्य कर सकते हैं। मोबाइल बैंकिंग को यूज करना इन्टरनेट बैंकिंग से अधिक सुविधाजनक है. मोबाइल बैंकिंग बहुत आसानी से एक छोटे से फ़ोन के ज़रिये पूरा काम कर सकते हैं। मोबाइल बैंकिंग में सर्वर परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता.
  • मोबाइल बैंकिंग से कई प्रकार के लोगों मोबाइल पर ही जमा किया जा सकता है इसके लिए कहीं पर भी लाइन लगने की जरूरत नहीं पड़ती है।
  • मोबाइल बैंकिंग दूसरी बैंकिंग की तुलना में सबसे सस्ती बैंकिंग सुविधा है, जिसे कोई भी आसानी से यूज कर सकता है।
  • बैंक बंद होने पर भी मोबाइल बैंकिंग से ट्रांजैक्शन किया जा सकता है मोबाइल बैंकिंग का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे कभी भी कहीं पर भी लेनदेन किया जा सकता है।
  • मोबाइल बैंकिंग क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड आदि की सुविधाएं भी उपलब्ध करवाता है। इसके अलावा बैंक अकाउंट में पैसे चेक कर सकते हैं।

मोबाइल बैंकिंग में क्या-क्या सावधानियां रखें (Mobile banking precautions)

  • मोबाइल बैंकिंग की यूजर आईडी खाते के बारे में जानकारी पासवर्ड और मोबाइल पिन किसी के भी साथ शेयर ना करें। कोई भी इन चीजों का गलत रूप से इस्तेमाल कर सकता है। जिससे आपका बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है।
  • मोबाइल बैंकिंग संबंधित बैंक की वेबसाइट या फिर प्ले स्टोर से डाउनलोड करके उपयोग करें किसी अन्य जगह पर इसका उपयोग करना हानिकारक हो सकता है।
  • फ्री वाईफाई में कभी भी मोबाइल बैंकिंग का उपयोग ना करें इससे आपके मोबाइल का डाटा चोरी हो सकता है और आप को बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है।
  • अपने बैंक अकाउंट या मोबाइल बैंकिंग से संबंधित सभी जानकारियां टेक्स्ट मेसेज के जरिए ना भेजे साइबर चोर इस तरह से आपके डाटा की चोरी कर सकते हैं.
  • अगर मोबाइल बैंकिंग को ऐप के माध्यम से यूज कर रहे हो तो आपको हमेशा लॉक रखें इससे आपकी मोबाइल बैंकिंग हमेशा सुरक्षित रहेगी।

एसबीआई मोबाइल बैंकिंग को एक्टिव कैसे करें

मोबाइल बैंकिंग को एक्टिव करने के अलग अलग तरीके हैं लेकिन इस आर्टिकल में हम आपको एसबीआई मोबाइल बैंकिंग को एक्टिव करना सिखाएंगे। SBI mobile banking को 2 तरीकों से एक्टिव किया जा सकता है पहला तरीका ATM के माध्यम से और दूसरा तरीका है मोबाइल से तो चलिए जानते हैं कि एसबीआई मोबाइल बैंकिंग को एक्टिव कैसे करते हैं।

  • मोबाइल बैंकिंग को एक्टिव करने के लिए सबसे पहले आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से MBSREG टाइप करके 9223440000 पर s.m.s. सेंड कर देना है इसके बाद में आपको बैंक की तरफ से एक मैसेज प्राप्त होगा। जिसमें आपको यूजर आईडी, MPIN और एप्लीकेशन डाउनलोड करने का लिंक मिलेगा।
  • उसके बाद में लिंक पर क्लिक करके एसबीआई का एप्लीकेशन डाउनलोड कर ले और अगर आप यूएसएसडी और डब्ल्यू ए पी पर है तो एप्लीकेशन डाउनलोड करने की जरूरत नहीं है।
  • इसके बाद में आपको इसे ओपन करके डिफॉल्ट पिन को चेंज कर ले।
  • इसके बाद में mobile banking registration process को कंप्लीट कर लेना है‌। रजिस्ट्रेशन पूरा होने के बाद में मोबाइल बैंकिंग का आसानी से उपयोग कर सकते हैं। इस तरह से आप घर बैठे एसबीआई मोबाइल बैंकिंग में रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं और इसका उपयोग कर सकते हैं।

मोबाइल बैंकिंग की हानियां

मोबाइल बैंकिंग से हमारे जीवन में बहुत सारी सुविधाएं हुई है लेकिन इसकी कुछ हानियां भी है जिसे हमेशा ध्यान रखना चाहिए अन्यथा हम अपना नुकसान कर सकते हैं।

  • वैसे तो मोबाइल बैंकिंग नेट बैंकिंग से अधिक सिक्योर होती है क्योंकि मोबाइल में कंप्यूटर की तुलना में ट्रोजन और अन्य वायरस बहुत ही कम होते हैं फिर भी मोबाइल बैंकिंग में धोखाधड़ी का डर रहता ही है।
  • ग्राहक के मोबाइल में fake sms आते रहते हैं जिसमें अपनी डिटेल मांगी जाती है अगर ग्राहक गलती से भी लालच में आकर अपने डिटेल दे देता है तो उनके अकाउंट से पैसे चोरी होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • नेट बैंकिंग मुख्यतः इंक्रिप्शन सिस्टम द्वारा किया जाता है जिसे हैक करना बहुत मुश्किल है लेकिन ग्राहक का मोबाइल गलती से खो जाता है या किसी हेकर के हाथ लग जाता है तो ग्राहक का बैंकिंग विवरण चुराया जा सकता है। और हैकर किसी भी तरह पिन दर्ज करके सारे पैसे चुरा सकते हैं।
  • मोबाइल बैंकिंग की सुविधाएं सभी फोन में नहीं रहती कई बैंक सामान्य एंड्राइड फोन में मोबाइल बैंकिंग का सॉफ्टवेयर नहीं देते हैं वह केवल महंगे फोन जैसे कि आईफोन ब्लैकबेरी आदि में ही देते हैं इस तरह महंगे फोन से सीमित मात्रा में हीं ग्राहक मोबाइल बैंकिंग का फायदा उठा सकते हैं। जो ग्राहक महंगे फोन purchase नहीं कर सकते उनके लिए यही सीमित है।
  • मोबाइल बैंकिंग के लिए खास शुल्क नहीं देना होता हैं लेकिन इसके इस्तेमाल के लिए यूज किया जा रहा data शुल्क , s.m.s. शुल्क बहुत जल्दी काट लिया जाता है कई बैंकों में इसके लिए अलग से शुल्क देना पड़ता है जो कि साल में एक बार काटा जाता है।

इस तरह आप मोबाइल banking की हानियो को ध्यान में रखकर उन से बचा जा सकता है आशा करते हैं कि यह आर्टिकल आपको बहुत ही पसंद आया होगा क्योंकि मोबाइल बैंकिंग की हानियों को जानकर आप अपने जीवन में मोबाइल बैंकिंग का अच्छे से यूज कर सकेंगे।

Latest article

More article