Yojanaमुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभ Chief Minister...

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभ Chief Minister Beej Swavalamban Yojana Rajasthan in Hindi

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभ (Chief Minister Beej Swavalamban Yojana Rajasthan in Hindi, apply, eligibility, benefits)

Chief Minister Beej Swavalamban Yojana: मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना (एमबीएसवाई) के तहत कृषकों को बीज उत्पादन के लिए 15 करोड़ रूपये की लागत से बीज उपलब्ध कराने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। यह राशि वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना से स्वीकृत की गई है।

योजना के अंतर्गत गेहूं, चना, जौ, ज्वार, सोयाबीन, मूंगफली, मूंग, मोठ एवं उड़द की फसलों की 10 वर्ष से कम अवधि की उन्नत किस्मों के बीजों का उत्पादन किया जाना है। इसमें न्यूनतम 50 प्रतिशत लघु एवं सीमांत कृषकों को शामिल कर लाभान्वित किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2022-23 की बजट घोषणा में मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के आकार को दोगुना कर आगामी 2 वर्षों में 50 हजार कृषकों को लाभान्वित किए जाने की घोषणा की थी। इसके लिए 30 करोड़ रूपए व्यय कर 9 लाख क्विंटल बीज का उत्पादन करवाया जाएगा।

प्रस्ताव को मंजूरी देने से अब फार्म पौंड, डिग्गी निर्माण एवं सिंचाई पाइप लाइन योजनाओं में लघु एवं सीमांत कृषकों को 10 प्रतिशत अतिरिक्त अनुदान भी मिलेगा। साथ ही योजनाओं में न्यूनतम 40 प्रतिशत लघु एवं सीमांत कृषकों को लाभान्वित किया जाएगा।

इससे प्रदेश के किसानों को डिग्गी, फार्म पौंड निर्माण और सिंचाई पाइप लाइन के लिए 894 करोड़ रूपये का अनुदान मिलेगा।

प्रदेश में सिंचाई के ढांचे को मजबूत करने के लिए बजट 2022-23 में कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की थीं। इन घोषणाओं को धरातल पर उतारकर किसानों को मजबूती प्रदान करने वाले विभिन्न प्रस्तावों को मंजूरी दी है।

प्रदेश में आगामी 3 वर्षों में 50 हजार किसानों को 20 हजार किलोमीटर सिंचाई पाइप लाइन के लिए 100 करोड़ रूपये का अनुदान उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए वित्तीय वर्ष 2022-23 में 14 करोड़ रूपये अनुदान के रूप में दिये जाएंगे।

साथ ही आगामी 3 वर्षों में 45 हजार किसानों को फार्म पौंड निर्माण के लिए 344.25 करोड़ रूपये का अनुदान मिलेगा। वित्तीय वर्ष 2022-23 में 15 हजार किसानों को फार्म पौंड निर्माण के लिए लगभग 74 करोड़ रूपये मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना से उपलब्ध कराये जाएंगे।

आगामी 3 वर्षों में 15 हजार किसानों को डिग्गी निर्माण के लिए 450 करोड़ रूपये का अनुदान उपलब्ध करवाया जाएगा। वित्तीय वर्ष 2022-23 में 5 हजार किसानों को निर्माण के लिए 150 करोड़ रूपये का अनुदान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना से दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना कब शुरू हुई

वर्ष 2017 में इस योजना की शुरुआत की गई थी शुरुआत में इस योजना का क्रियान्वयन राज्य के तीन कृषि जलवायुविक खंडों कोटा भीलवाड़ा तथा उदयपुर में किया गया था। वर्ष 2018 गुन्नी से इस योजना को राज्य के समस्त 10 कृषि जलवायुविक खंडों में क्रियान्वित किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना का उद्देश्य

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना का मुख्य उद्देश्य कृषको द्वारा स्वयं के खेतों में अच्छी किस्म के बीज निर्माण को बढ़ावा देना है।

Latest article

More article