UncategorizedBest Chanakya Quotes In Hindi | आचार्य चाणक्य के सर्वश्रेष्ठ अनमोल विचार

Best Chanakya Quotes In Hindi | आचार्य चाणक्य के सर्वश्रेष्ठ अनमोल विचार

Chanakya Niti in Hindi, chanakya status in hindi

Chanakya Niti in Hindi

सन्तोष के अमृत से तृप्त व्यक्तियों को जो सुख और शान्ति मिलता है , वह सुख- शान्ति धन के पीछे इधर – उधर भागनेवालों को नहीं मिलती ।         

आचार्य चाणक्य

जो गुजर गया उसकी चिंता नहीं करनी चाहिए , ना ही भविष्य के बारे में चिंतित होना चाहिए । समझदार लोग केवल वर्तमान में ही जीते हैं ।

Chanakya Niti in Hindi

अत्यन्त क्रोध , कटु वाणी , दरिद्रता , स्वजनों से बैर , नीच लोगों का साथ , कुलहीन की सेवा नरक की आत्माओं के यही लक्षण होते हैं ।

Chanakya Vachan in Hindi

जिस प्रकार इकट्ठे किए हुए तिनके जल की धारा को रोक लेते हैं उसी प्रकार मनुष्य संगठित रहने पर शत्रु को आसानी से जीत सकते हैं ।

आचार्य चाणक्य अनमोल विचार

जब तक तुम दौड़ने का साहस नहीं जुटाओगे , तुम्हारे लिए प्रतिस्पर्धा जीतना असंभव होगा

Chanakya Quotes in Hindi

Chanakya Niti in Hindi

लक्ष्मी वैसे ही चंचल होती है परन्तु चोरी , जुआ , अन्याय और धोखा देकर कमाया हुआ धन भी स्थिर नहीं रहता , वह बहुत शीघ्र ही नष्ट हो जाता है ।

जो व्यक्ति अनावश्यक कर्म करता है , सभी को संदेह की दृष्टि से देखता है , आवश्यक और शीघ्र करने वाले कार्यो को विलंब से करता है , वह मूर्ख कहलाता है ।

Chanakya Leadership Quotes in Hindi

ज्ञान द्वारा मनुष्य का डर दूर होता है , तप द्वारा उसे ऊँचा पद मिलता है , गुरु की सेवा द्वारा विद्या प्राप्त होती है तथा योग द्वारा शांति प्राप्त होती है ।

सफलता की राह में चल रहे व्यक्ति की चर्चा और निन्दा अवश्य होती है , लेकिन आपको रुकना नहीं है ।

जैसे शिकारी से हिरण भयभीत रहते हैं , उसी प्रकार जिस राजा से उसकी प्रजा भयभीत रहती है , फिर चाहे वह पूरी पृथ्वी का ही स्वामी क्यों न हो , प्रजा उसका परित्याग कर देती है ।

Chanakya Quotes on King in Hindi

जीवन में छोटा सा बदलाव , बड़ी सफलता का संकेत होता है ।

धीरज से निर्धनता भी सुन्दर लगती है , साफ रहने पर मामूली वस्त्र भी अच्छे लगते हैं , गर्म किये जाने पर बासी भोजन भी स्वादिष्ट जान पड़ता है और शील – स्वभाव से कुरूपता भी सुन्दर लगती है।

Chanakya Niti in Hindi

जो वैदिक ज्ञान की निंदा करते है , शास्त्र सम्मत जीवनशैली की मजाक उड़ाते है , शांतीपूर्ण स्वभाव के लोगो की मजाक उड़ाते है , बिना किसी आवश्यकता के दुःख को प्राप्त होते है

Chanakya Thoughts in Hindi

निरंतर अभ्यास न करने पर ज्ञान भी विष के समान हो जाता है ।

भोजन के योग्य पदार्थ और भोजन करने की क्षमता , सुन्दर स्त्री और उसे भोगने के लिए काम शक्ति , पर्याप्त धनराशी तथा दान देने की भावना – ऐसे संयोगों का होना सामान्य तप का फल नहीं.

धन दौलत के मोह का है ये जग सारा , अगर नहीं है आपके पास तो आपका कोई नहीं , अगर है तो अनजान भी आपका सगा ।

Chanakya Niti in Hindi

Chanakya Quotes on Success in Hindi

जब तुम पैदा हुए थे तो तुम रोए थे और पूरी दुनिया ने खुशियां मनाई थी अब अपना जीवन ऐसे जियो कि तुम्हारी मृत्यु पर सब रोएं और तुम हँसो ..

बिना कारण झगड़ा करना मूखों का काम है , बुद्धिमान व्यक्ति इनसे दूर ही रहते है ।

तीव्र बुद्धि वाले लोग आत्मा – परमात्मा की चर्चा करते हैं , मध्यम बुद्धि वाले लोग संसार की घटनाओं की चर्चा करते हैं और कम बुद्धि वाले लोग एक दूसरे की निंदा करते हैं।

Chanakya Niti for Motivation in Hindi

दुःख भोगने वाला आगे चलकर सुखी हो सकता है लेकिन दुःख देने वाला कभी सुखी नहीं हो सकता ।

चंदन कट जाने पर भी अपनी महक नहीं छोड़ता उसी प्रकार अच्छे संस्कारों वाला व्यक्ति कितनी भी गरीबी में रह ले वह अपने संस्कार नहीं छोड़ता ।

लोगों को उतना ही सम्मान दो जितने में अपना कम ना हो , क्योंकि अधिक सम्मान देने से लोग सर पर चढ़ जाते हैं ।

Chanakya Niti in Hindi

Chanakya Niti Quotes in Hindi

कभी किसी के सामने अपनी सफाई पेश मत करना क्योंकि जिसे तुम पर विश्वास है उसे जरूरत नहीं और जिसे तुम पर विश्वास नहीं वो मानेगा ही नहीं

जब तक तुम दौड़ने का साहस नहीं जुटाओगे प्रतिस्पर्धा में जीतना तुम्हारे लिए असंभव बना रहेगा -चाणक्य

कामयाबी तक जाने वाले रास्ते सीधे नहीं होते हैं , लेकिन कामयाबी मिलने पर सभी रास्ते सीधे हो जाते हैं चाणक्य विचार

” जैसे एक बछड़ा हजारो गायों के झुंड मे अपनी माँ के पीछे चलता है । उसी प्रकार आदमी के अच्छे और बुरे कर्म उसके पीछे चलते हैं । ” आचार्य चाणक्य

Chanakya Thoughts in Hindi

स्वभाव दीपक के जैसा हो जो राजा के महल को भी उतना ही रोशन करता है जितना एक गरीब की झोपड़ी को ।

आचार्य चाणक्य अनमोल विचार

Chanakya Niti in Hindi

मूर्खो से वाद – विवाद नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे केवल आप अपना ही समय नष्ट करेंगे ।

दूसरों की गल्तियों से सीखो , अपने ही ऊपर प्रयोग करके सीखने को तुम्हारी आयु कम पड़ेगी .

chanakya suvichar in hindi

Latest article

More article