Scienceहीमोफीलिया रोगी के लक्षण प्रकार एवं उपचार | Symptoms, types and treatment...

हीमोफीलिया रोगी के लक्षण प्रकार एवं उपचार | Symptoms, types and treatment of hemophilia patient

हीमोफीलिया क्या है, लक्षण, प्रकार, इलाज, विश्व हिमोफीलिया दिवस

हीमोफीलिया एक अनुवांशिक रोग है जो केवल पुरुषों को होता है और महिलाएं इसकी वाहक होती है अर्थात महिलाओं द्वारा पुरुषों में यह रोग फैलता है।

हीमोफीलिया रोग के लक्षण

मनुष्य में हीमोफीलिया रोग के प्रभाव

  • शरीर में नीले निशानों का होना
  • आंख के अंदर खून का निकलना
  • नाक से खून का बहना
  • जोड़ों में सूजन होना

हिमोफीलिया का इलाज

बार-बार रूधिन-आधान करते रहना चाहिए

पूनर्स्थापना चिकित्सा या रिप्लेसमेंट थेरेपी – इस प्रकार की चिकित्सा में क्लोटिंग फैक्टर को पुनर्स्थापित या रिप्लेस किया जाता है जो कम है या बिल्कुल नहीं है ये हीमोफीलिया का सबसे बेस्ट इलाज है।

नोन फैक्टर रिप्लेसमेंट थेरेपी– इसमें सिंथेटिक प्रोटीन का प्रयोग किया जाता है जो कि क्लोटिंग फैक्टर की एक नकली कॉपी के रूप में कार्य करता है।

अमीनोकैप्रोइक एसिड – इस प्रकार की दवाओं की मदद से रक्त के थक्के को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ दिया जाता है।

फिजिकल थेरेपी- हिमोफीलिया का इलाज उसके स्टेज और उसके प्रकार पर निर्भर करता है।

हिमोफीलिया किस विटामिन की कमी से होता है

हीमोफीलिया एक ऐसी बीमारी है जिससे अगर शरीर पर कहीं भी चोट लग जाए तो बहता हुआ रक्त जमता नहीं है जिससे मनुष्य की मौत भी हो सकती है हिमोफीलिया रक्त में थ्राम्बोप्लास्टिन नामक पदार्थ की कमी के कारण होता है।

हीमोफीलिया कितने प्रकार के होते हैं

हिमोफीलिया सामान्य तो दो प्रकार का होता है हीमोफीलिया A और हीमोफीलिया B, इसमें से सर्वाधिक लोगों को होने वाला रोग हीमोफीलिया A है हीमोफीलिया A में फैक्टर 8 की मात्रा बहुत कम या शुन्य हो जाती है और हीमोफीलिया B में फैक्टर 9 की मात्रा शुन्य या कम हो जाती है।

हिमोफीलिया A के कारण

हिमोफीलिया A से ग्रसित रोगियों में प्लाज्मा प्रोटीन और फैक्टर 8 की मात्रा कम हो जाती है। फैक्टर 8 की मात्रा अगर 5% से 40 % की है तो इसे माइल्ड हीमोफीलिया करते हैं। फैक्टर 8 की मात्रा अगर 1% – 5% है तो उसे मॉडरेट हीमोफीलिया करते हैं। और अगर 1% से कम है तो उसे सीवियर हीमोफीलिया कहते हैं।

हिमोफीलिया B के कारण

हीमोफीलिया बच्चों में अपने माता-पिता से आता है जिससे बच्चों में करो जिया कटने पर रक्त बहता रहता है जिससे बच्चों की मृत्यु भी हो सकती है इस बीमारी में फैक्टर 8 की कमी हो जाती है फैक्टर B एक आवश्यक रक्त का थक्का बनाने वाला प्रोटीन है जिसे एंटीहीमोफीलिक कारक के रूप में जाना जाता है।

विश्व हिमोफीलिया दिवस कब मनाया जाता है

विश्व हिमोफीलिया दिवस 17 अप्रैल को मनाया जाता है लोगों को हीमोफीलिया के विकारों के बारे में जागरूक करने के लिए विश्व हिमोफीलिया दिवस मनाया जाता है।

Latest article

More article