Scienceपैरामीशियम क्या है? वर्गीकरण, इसके लक्षण What is Paramecium? Classification, Its Characteristics...

पैरामीशियम क्या है? वर्गीकरण, इसके लक्षण What is Paramecium? Classification, Its Characteristics | paramecium in hindi

Join Telegram

पैरामीशियम के सामान्य लक्षण, पैरामीशियम की सामान्य संरचना का सचित्र वर्णन कीजिए, पैरामीशियम का चित्र, पैरामीशियम की खोज किसने की थी, पैरामीशियम क्या है, [paramecium classification in hindi, paramecium ke lakshan, paramecium ka vargikaran, paramecium in hindi, paramecium diagram, paramecium meaning in hindi

संघप्रोटोजोआ
वर्गसीलिएटा
उपवर्गयूसीलीऐटा
गणहोलोट्राइका
वंशपैरामीशियम

पैरामीशियम क्या है what is paramecium

पैरामीशियम एक कोशिकीय जीव है जो गंदे पानी, नदी, झीलों, पोखर, खाईयो, तथा गड्डो में भरे पानी इत्यादि में पाया जाता है। यह प्रोटोजोआ संघ का जीव है। इसकी एक सामान्य जाति कोडेटाम पूरे संसार में पाई जाती है। यह देखने में किसी मानव तलवो की तरह होता है।

1. पैरामीशियम वर्गीकरण (paramecium classification)

  • संघ प्रोटोजोआ (Phylum Protozoa) एककोशिकीय अथवा अकोशिकीय जन्तु जो प्रायः सूक्ष्मदर्शी होते हैं।
  • वर्ग सीलिएटा (Class Ciliata)- गमन सीलिया (cilia) अर्थात् रोमाभ द्वारा होता है।
  • उपवर्ग यूसीलीऐटा (Subclass Euciliata)- कोशिकामुख (cytostome) उपस्थित होता है तथा दो केन्द्रक- मैक्रोन्यूक्लियस (macronucleus) एवं माइक्रोन्यूक्लियस (micronucleus) होते हैं।
  • गण होलोट्राइका (Order Holotricha)- देह पर प्रायः एक ही आकार एवं लम्बाई के रोमाभ होते हैं।
  • वंश पैरामीशियम (Genus Paramecium)

2. पैरामीशियम का स्वभाव एवं आवास (Habit and habitat of paramesium)

पैरामिशियम विश्वव्यापी अलवण जल का जन्तु है, जो जल भरे गड़ों, पोखर आदि में प्रचुर मात्रा में तैरता हुआ पाया जाता है।

3. पैरामीशियम के लक्षण (Salient features of paramesium)

पैरामीशियम विश्वव्यापी अलवण-जल (fresh water) का जन्तु है, जो जल भरे गड्ढों, पोखर आदि में प्रचुर मात्रा में तैरता हुआ पाया जाता है लगभग 3mm लम्बी देह अग्र भाग में कुन्द एवं पिछले अन्त पर पैनी होती है। असममित बेलनाकार देह पर जिलेटिनस पेलिकल (pellicle) का आवरण होता है। पूरी देह रोमाभों (cilia) से ढकी होती है। रोमाभों के बीच-बीच ट्राइकोसिस्ट (trichocyst) नामक संरचनाएँ उपस्थित होती है।

देह के अधर-पार्श्व पर एक रोमाभी खाँच होता है जिसे पेरीस्टोम (Peristome) कहते हैं। पेरीस्टोम एक फनल-रूपी वेस्टीब्यूल (vestibule) में जाती है एवं वेस्ट्रीब्यूल एक मुख-गुहिका में खुलती है। मुख गुहिका एक छोटी कोशिकीय ग्रसिका (cytopharynx) द्वारा जन्तु के जीवद्रव्य (एन्डोप्लास्म) में खुलती है। प्राणि के जीवद्रव्य में दो केन्द्रक होते हैं- एक बड़ा दीर्घ केन्द्रक (macronucleus) एवं एक छोटा लघु-केन्द्रक (micronucleus)।

इसके अतिरिक्त अरीय नलिकाओं (radial canals) युक्त दो संकुचनशील रसधानियाँ (contractile vacuoles), एवं खाद्य-धानियाँ आदि भी जीवद्रव्य में उपस्थित होती हैं। पैरामोसियम की एक सामान्य जाति पै. कॉडेटम (P. caudatum) है।

पैरामीशियम कहां पाया जाता है where is paramecium found

पैरामीशियम प्रोटोजोआ संघ का जीव है, पैरामिशियम विश्वव्यापी अलवण जल का जन्तु है, जो जल भरे गड़ों, पोखर आदि में प्रचुर मात्रा में तैरता हुआ पाया जाता है। यह एक कोशिकीय जीव है

पैरामीशियम की खोज किसने की थी who discovered paramecium

पैरामीशियम की खोज एंटोनी ओनली वन हाकने ने सन 1678 ईस्वी में की थी। पैरामीशियम आकार व आकृति में चप्पल की तरह दिखाई देता है। यह एक कोशकीय जीव है। पैरामीशियम में नर और मादा एक ही जीव में होते है। इसे सूक्षमदर्शी की सहायता से आराम से देखा जा सकता है।

FAQ

Q.1 पैरामीशियम क्या है? paramecium kya hai

पैरामीशियम प्रोटोजोआ संघ का जीव है, पैरामिशियम विश्वव्यापी अलवण जल का जन्तु है

Q.2 पैरामीशियम कहां पाया जाता है

पैरामिशियम विश्वव्यापी अलवण जल का जन्तु है, जो जल भरे गड़ों, पोखर आदि में प्रचुर मात्रा में तैरता हुआ पाया जाता है

Q.3 पैरामीशियम में गमन किसके द्वारा होता है

पैरामीशियम के गमन ‘पक्ष्माभ’ यानी ‘सीलिया’ से गमन करता है,

Join Telegram

Latest article

spot_img

More article