careerपटवारी कैसे बने पूरी जानकारी

पटवारी [patwari] कैसे बने पूरी जानकारी

पटवारी कैसे बने पूरी जानकारी

पटवारी जिसे सब जानते ही है। पटवारी नाम सामने आते ही हमारे दिमाग में उस सरकारी कर्मचारी की तस्वीर सामने आ जाती है जो आपकी जमीन-खसरा आदि के बारे में जानकारी देता है. इस लेख में हम आपको patwari kaise bane इसके बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं।

भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में पटवारी को लेखपाल के नाम से जानते हैं. अधिकांश राज्यों में पटवारी ही बोलते हैं जो मुख्यतः राजस्व विभाग का कर्मचारी होता है. पटवारी को कहीं-कहीं पटेल, कारनाम अधिकारी, शानबोगरू के नाम से भी जानते हैं. पटवारी को गांव में काफी सम्मान मिलता है जोकि युवाओं को पटवारी बनने के लिए आकर्षित करता है

पटवारी या लेखपाल का मुख्य काम जाति, आय और निवास प्रमाण पत्र बनाना होता है. पटवारी के जिम्मे जमीन की पैमाइश (नापना) का काम भी होता है. इसके अलावा सरकार जो निर्देश देती है, पटवारी को वह काम भी करना होता है. पटवारी को किसी तहसील में नौकरी मिलती है जहां उसे काम करना होता है. इसके साथ ही उसे एक खास इलाका दे दिया जाता है जिसका कामकाज वह देखता है.

उस इलाके में जमीन से जुड़ी जो भी समस्या हो, पटवारी या लेखपाल निपटाता है. फसल बीमा निपटाने जैसे काम भी पटवारी करता है. किसी गांव का पूरा रिकॉर्ड पटवारी या लेखपाल रखता है. किसकी जमीन किसने खरीदी और किसने बेची, ये सब जानकारी पटवारी के पास होती है.

पटवारी कैसे बने How to become patwari

पटवारी चयन के लिए राज्य सरकार की ओर से अधिसूचना जारी होती है. पटवारी के कितने पदों पर नियुक्ति होनी है, सरकार उसी हिसाब से पद निकालती है. इसके लिए परीक्षा का प्रावधान है. योग्यता के अनुसार लोग इसमें फॉर्म भरते हैं. फॉर्म के तहत आवेदन देने के बाद परीक्षा की तैयारी करनी होती है.

एक खास दिन परीक्षा ली जाती है और फिर उसका रिजल्ट निकलता है. रिजल्ट को मेरिट लिस्ट के आधार पर घोषित किया जाता है. ये सब कुछ होने के बाद आपके कागजात को जांचने का काम होता है जिसके लिए खास दिन इंटरव्यू में बुलाया जाता है. कागजात की जांच के बाद उम्मीदवार को नियुक्ति पत्र दे दिया जाता है.

पटवारी बनने की योग्यता और उम्र

इंटर पास कोई व्यक्ति पटवारी की परीक्षा में शामिल हो सकता है. पटवारी बनने के लिए कंप्यूटर का कोर्स भी करना जरूरी है. पटवारी का सारा काम कंप्यूटर से जुड़ा है, इसलिए कंप्यूटर का ज्ञान जरूरी है. पटवारी बनने के लिए कम से कम 18 साल और अधिकतम 40 साल उम्र निर्धारित है. इसमें भी कुछ आरक्षण का प्रावधान है और इसी के मुताबिक नियुक्ति की जाती है. आरक्षण प्राप्त लोगों को आरक्षण का लाभ दिया जाता है.

पटवारी की सैलरी patwari salary 2021

पटवारी को ज्यादा से ज्यादा 25 हजार रुपये की सैलरी मिलती है. पटवारी की सैलरी 5200-20200 ग्रेड पे में निर्धारित है. इसमें कई तरह के भत्ते शामिल होते हैं और सभी भत्ते जुड़कर लगभग 25 हजार रुपये मिलते हैं. यह सैलरी अलग-अलग राज्यों के मुताबिक तय होती है. इसलिए अपने प्रदेश के हिसाब से आपको पता चल जाएगा कि पटवारी कितनी तनख्वाह पाता है.

पटवारी परीक्षा पाट्यक्रम patwari syllabus 2021

पटवारी की परीक्षा में हिंदी, अंग्रेजी, गणित, कंप्यूटर नॉलेज. जीके और करंट अफेयर्स के बारे में पूछा जाता है. हिंदी के पेपर में संधि, काल, वाक्यांश, क्रिया आदि से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं. अंग्रेजी में वोकबुलरी, ग्रामर, एंटोनिम, साइनोनि, इडियोम्स और फ्रेज के बारे में पूछा जाता है. गणित की परीक्षा मुख्य होती है और इसमें दशमलव, औसत, नंबर सिस्टम, समय और कार्य के बारे में पूछा जाता है. कंप्यूटर में बेसिक, इनपुट-आउटपुट डिवाइस, वर्ड प्रोसेसिंग और ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में पूछा जाता है. जीके के तहत सामान्य ज्ञान और करंट अफेयर्स के सवाल पूछे जाते हैं.

Latest article

More article