informationजलियांवाला बाग हत्याकांड कब हुआ था, कैसे हुआ, क्यों हुआ, निबंध Jallianwala...

जलियांवाला बाग हत्याकांड कब हुआ था, कैसे हुआ, क्यों हुआ, निबंध Jallianwala Bagh Massacre in Hindi

Join Telegram

जलियांवाला बाग हत्याकांड कब हुआ?, जलियांवाला बाग हत्याकांड कैसे हुआ?, जलियांवाला बाग हत्याकांड पर निबंध 2022, jallianwala bagh massacre in hindi

जलियांवाला बाग हत्याकांड का परिचय Introduction to Jallianwala Bagh Massacre

जलियांवाला बाग हत्याकांड भारत के पंजाब प्रांत के अमृतसर में 13 अप्रैल 1919 को हुआ जहां जलियांवाला बाग में 13 अप्रैल 1919 को एक सभा हो रही थी जिस पर अंग्रेज officer जनरल डायर ने बिना चेतावनी दिए अंधाधुंध गोलियां चलवा दी जिसमें 400 से अधिक व्यक्ति मारे गए तथा 2000 से अधिक लोग घायल हुए

जलियांवाला बाग हत्याकांड का कारण Cause of Jallianwala Bagh Massacre

10 अप्रैल 1919 को पंजाब में रोलेट एक्ट के विरोध में सैफुद्दीन किचलू और सत्यपाल की गिरफ्तारी हुई जिसके विरोध में 13 अप्रैल 1919 को लोग जलियांवाला बाग में इकट्ठा हुए जिसको देखते हुए सूचना मिलते ही जनरल डायर ने अंधाधुंध फायरिंग करवा दी

जलियांवाला बाग हत्याकांड का परिणाम Jallianwala Bagh Massacre Result

  • पंजाब में मार्शल लॉ लगा दिया गया
  • ब्रिटिश सरकार के खिलाफ पूरे देश में आक्रोश फैल गया
  • कवि रविंद्र नाथ टैगोर ने अपनी नाइटहुड की उपाधि त्याग दी
  • गांधी जी ने आंदोलनों में सक्रिय रूप से भाग लेना शुरू किया

जलियांवाला बाग हत्याकांड विशेष Jallianwala Bagh Massacre Special

जलियांवाला बाग हत्याकांड में मरने वालों की कुल संख्या अलग अलग रिपोर्ट में अलग अलग थी जलियांवाला बाग में 388 शहीदों की सूची में थे जबकि डिप्टी कमिश्नर कार्यालय के अनुसार 484 शहीद थे 

ब्रिटिश राज के अभिलेख में 200 लोग घायल हुए 379 लोग शहीद हुए जिनमें 337 पुरुष 47 नाबालिग लड़के और एक 6 सप्ताह का बच्चा था अनाधिकारी आंकड़ों के अनुसार 1000 से अधिक लोग मरे जबकि 2000 से अधिक घायल हुए जलियांवाला बाग में आज भी 1650 राउंड गोलियों के निशान है.

जलियांवाला बाग हत्याकांड की घटना का महत्त्व Significance of Jallianwala Bagh Massacre Incident

जलियांवाला बाग भारत के इतिहास की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थल बन गया है और अभी यह महत्वपूर्ण स्मारक है। इस घटना के विरोध में भारत रत्न विजेता और बंगाल कवि रविंद्र नाथ टैगोर ने अपने नाइटहुड की उपाधि का त्याग कर दिया। इस घटना के बाद इस मामले की जांच हेतु हंटर आयोग का गठन किया गया जिसने जनरल डायर को सेना से इस्तीफा देने का आदेश दिया।

FAQ

जलियांवाला बाग हत्याकांड कब हुआ

जलियांवाला बाग हत्याकांड 13 अप्रैल 1919 को हुआ

जलियांवाला बाग हत्याकांड क्यों हुआ था

रोलेट एक्ट के विरोध में 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग में लोग एकत्रित हुए थे उन लोगों पर जनरल डायर द्वारा गोलियां चलाई गई

जलियांवाला बाग हत्याकांड किसने किया था

जलियांवाला बाग हत्याकांड जनरल डायर ने किया था

जलियांवाला बाग हत्याकांड कब और कहां हुआ

जलियांवाला बाग हत्याकांड 13 अप्रैल 1919 को अमृतसर के जलियांवाला बाग में हुआ था

Join Telegram

Latest article

spot_img

More article