Question answerचित्तौड़गढ़ दुर्ग के प्रमुख साके Main Sake of Chittorgarh Fort

चित्तौड़गढ़ दुर्ग के प्रमुख साके Main Sake of Chittorgarh Fort [RPSC]

चित्तौड़गढ़ दुर्ग के प्रमुख साके

चित्तौड़गढ़ दुर्ग में तीन साके हुए थे।

1. चित्तौड़गढ़ का प्रथम साका

1303 ई में राणा रतन सिंह के काल में अलाउद्दीन खिलजी ने चित्तौड़ पर आक्रमण किया जिसमें गोरा बादल ने केसरिया किया और रानी पद्मावती (पदमनी) ने जोहर किया

2. चित्तौड़गढ़ का दूसरा साका

चित्तौड़गढ़ का दूसरा साका 1534 ईसवी में हुआ जिसमें रानी कर्मावती ने जौहर किया इस समय चित्तौड़ पर गुजरात के सुल्तान बहादुर शाह ने आक्रमण किया था

3. चित्तौड़गढ़ का तीसरा साका

चित्तौड़गढ़ का तीसरा साका 1567-68 को हुआ था जयमल और पत्ता राठौड़ ने केसरिया किया और स्त्रियों ने किले में जौहर किया

Latest article

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

More article