Educationइन्सुलिन की संरचना structure of insulin in hindi

इन्सुलिन की संरचना structure of insulin in hindi

Join Telegram

इन्सुलिन की संरचना structure of insulin in Hindi

यह हार्मोन अग्नाशय में लैंगरहेन्स के द्वीप समूह में उपस्थित B कोशिकाओं द्वारा स्त्रावित होता है। इस हार्मोन का निर्माण दो पॉलीपेप्टाइड श्रृंखलाओं (A व B) द्वारा होता है। A श्रृंखला में 21 एमीनों अम्ल तथा B श्रृंखला में 30 एमीनों अम्ल पाये जाते है। ये दोनों श्रृंखलायें डाइसल्फाइड सेतु से बंधित होती है। A श्रृंखला के 6 व 11 स्थान पर स्थित सिस्टोन भी एक डाइसल्फाइड सेतु से बंधित होता है। यह रक्त में ग्लूकोज की मात्रा को कम करता है। इसका मुख्य कार्यिकीय कार्य ग्लूकागोन के कार्य से विपरीत होता है। इन्सुलिन निम्नलिखित प्रकार से रक्त में ग्लूकोज के स्तर को कम करता है. यह रक्त में ग्लूकोज का संचरण बढ़ाता है। यह ग्लूकोज के, ग्लाइकोजन में परिवर्तन ग्लाइकोजेनेसिस में वृद्धि करता है

यह ग्लूकोज व अन्य खाद्य पदार्थों को वसा अम्लों में परिवर्तित करता है जिसे वसाकरण कहते है। यह प्रोटीन संश्लेषण को भी प्रेरित करने में सहायक होता है।

इन्सुलिन के अपर्याप्त परिमाण में स्त्रावित होने से ग्लूकोज का संग्रह एवं उपयोग अर्थात् पूर्ण कार्बोहाइड्रेट उपापचय प्रभावित होता है इन दोनो ही क्रियाओं में संदमन होता है। भोजन के पाचन द्वारा उत्पन्न ग्लूकोज रक्त में एकत्रित हो जाता है तथा इसके स्तर को बढ़ाकर अतिग्लूकोसरक्तता को उत्पन्न करता है। इस स्तर के वृक्कीय देहली स्तर से बढ़ने पर ग्लूकोज मूत्र के साथ उत्सर्जित किया जाने लगता है। यह अवस्था ग्लूकोसयूरिया कहलाती है। इसकी कमी से ही वसाओं का अपचय बढ़ जाता है और वसाएँ ग्लूकोज में परिवर्तित होकर रक्त में ग्लूकोज की मात्रा को ओर अधिक बढ़ा देती है।

इन्सुलिन की कमी से डायबिटीज मैलिटस नामक घातक रोग हो जाता है। इन्सुलिन की अधिक मात्रा स्त्रावित होने से रक्त में ग्लूकोज की सान्द्रता शीघ्रता से कम हो जाती है और ऊतकों में यह प्रवेश कर जाता है। देह के संवेदी अंग मस्तिष्क, नेत्र आदि ग्लूकोज के अतिरिक्त अन्य किसी ऊर्जा स्त्रोत का उपयोग नहीं करते अतः कोमा जैसे घातक परिणाम हो सकते है।

इन्सुलिन के प्रभाव से प्रोटीन उपापचय में भी अनेक परिवर्तन होते है। इन्सुलिन की अधिक मात्रा से ऊतकों में प्रोटीन की मात्रा में वृद्धि होती है तथा इसकी कमी से ऊतकों में प्रोटीन की कमी होने लगती है।

Join Telegram

Latest article

spot_img

More article