Yojanaआयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना [Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Rajasthan Health Insurance Scheme in Hindi]

  •  राज्य सरकार द्वारा भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के साथ एकीकरण करते हुए एकीकृत योजना का नाम ‘ आयुष्मान भारत – महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना ‘ रखा गया है ।
  • यह योजना 1 सितम्बर , 2019 से शुरू की गई । इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के गरीब परिवारों को निजी चिकित्सालयों में भी कैशलेस चिकित्सा सुविधा प्रदान कर बीमारी से वित्तीय एवं सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना एवं जनता के द्वारा स्वास्थ्य पर किये जा रहे व्यय को कम करना है ।
  • भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के लाभार्थियों के साथ आयुष्मा भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अन्तर्गत आर्थिक , सामाजिक एवं जाति आधारित जनगणना के आधार पर पात्र लाभार्थी परिवारों को भी नवीन योजना में जोड़ा गया है ।
  • अब यह योजना ‘ आयुष्मान भारत – महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना ‘ के नाम से जानी जाती है । योजना के दिशा – निर्देश एवं कार्य प्रणाली पूर्व की भाँति ही है , अन्तर केवल यह होगा कि योजना में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अन्तर्गत पात्र परिवारों के साथ – साथ सामाजिक , आर्थिक एवं जाति आधारित जनसंख्या के आधार पर आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के लाभार्थी परिवारों को भी योजना के अन्तर्गत सम्बद्ध निजी एवं सरकारी अस्पतालों द्वारा निःशुल्क इलाज प्रदान करना होगा ।

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत पात्रता Eligibility under Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Rajasthan Health Insurance Scheme

( i ) राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अन्तर्गत चयनित परिवार

( ii ) सामाजिक , आर्थिक एवं जाति आधारित जनगणना , 2011 के आधार पर आयुष्मान भारत योजना ( AB – PMJAY ) के पात्र लाभार्थी परिवार।

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना का दूसरा चरण ( 30-01-2021 ) Second phase of Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Rajasthan Health Insurance Scheme

  • राज्य में पूर्व में संचालित भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना ( NFSA ) के 98 लाख लाभार्थी परिवारों के साथ ही सामाजिक आर्थिक जनगणना ( SECC 2011 ) के पात्र परिवारों को भी शामिल कर योजना का दायरा बढ़ाते हुए आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के नये चरण की शुरूआत 30 जनवरी , 2021 से हुई जिसमें अब 1 करोड़ 10 लाख परिवारों को निःशुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की गई है ।
  • इस योजना में वार्षिक प्रीमियम 1750 करोड़ रु . का लगभग 80 प्रतिशत ( 1400 करोड़ रु . ) अंशदान राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा । अब प्रति परिवार सालाना निःशुल्क उपचार सीमा को बढ़ाकर 3.30 लाख के स्थान पर 5 लाख रु . तथा उपचार के लिए उपलब्ध 1401 पैकेज को बढ़ाकर 1576 किया गया है ।
  • सामान्य बीमारियों के लिए 50 हजार तथा गंभीर बीमारियों के लिए 4.50 लाख तक का निःशुल्क इलाज उपलब्ध होगा । सरकारी के साथ – साथ सम्बद्ध निजी तथा राज्य में स्थित भारत सरकार के चिकित्सालयों में भी निःशुल्क इलाज मिलेगा । खास बात है कि भर्ती से 5 दिन पहले और डिस्चार्ज के 15 दिन बाद तक का चिकित्सा खर्च भी निःशुल्क पैकेज में शामिल कियागया है । राज्य सरकार ने बीमा योजना के पैकेज की . सूची में ‘ कोविड -19 ‘ और हीमोडायलिसिस रोगों को भी शामिल कर लिया गया है ।
  • सौर ऊर्जा क्षमता स्थापित करने में पहले स्थान पर पहुँचा राजस्थान
  • सांप के लक्षण
  • PhonePe से Google Pay में पैसे कैसे भेजें

Latest article

More article