Biographyअमिताभ बच्चन का जीवन परिचय amitabh bachchan biography in Hindi 2022

अमिताभ बच्चन का जीवन परिचय amitabh bachchan biography in Hindi 2022

अमिताभ बच्चन की जीवनी amitabh bachchan biography in hindi

नाम अमिताभ हरिवंश राय बच्चन
जन्म 11 अक्टूबर, 1942 इलाहाबाद
पिता हरिवंशराय बच्चन
माता तेजी बच्चन
पत्नी अभिनेत्री जया भादुड़ी

अमिताभ बच्चन का आरंभिक जीवन amitabh bachchan biography in hindi –

इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश, में जन्मे अमिताभ बच्चन के पिता, डॉ॰ हरिवंश राय बच्चन प्रसिद्ध हिन्दी कवि थे।आरंभ में बच्चन का नाम इंकलाब रखा गया था जो भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान प्रयोग में किए गए प्रेरित वाक्यांश इंकलाब जिंदाबाद से लिया गया था। लेकिन बाद में इनका फिर से अमिताभ नाम रख दिया गया जिसका अर्थ है, “ऐसा प्रकाश जो कभी नहीं बुझेगा”

यद्यपि इनका अंतिम नाम श्रीवास्तव था फिर भी इनके पिता ने इस उपनाम को अपने कृतियों को प्रकाशित करने वाले बच्चन नाम से उद्धृत किया। यह उनका अंतिम नाम ही है जिसके साथ उन्होंने फिल्मों में एवं सभी सार्वजनिक प्रयोजनों के लिए उपयोग किया।
अब यह उनके परिवार के समस्त सदस्यों का उपनाम बन गया है। अमिताभ बच्चन हिन्दी फिल्मों के अभिनेता हैं। हिन्दी सिनेमा में चार दशकों से ज्यादा का वक्त बिता चुके अमिताभ बच्चन को उनकी फिल्मों से ‘एंग्री यंग मैन’ की उपाधि प्राप्त है। वे हिन्दी सिनेमा के सबसे बड़े और सबसे प्रभावशाली अभिनेता माने जाते हैं। उन्हें लोग ‘सदी के महानायक’ के तौर पर भी जानते हैं और प्‍यार से बिग बी, शहंशाह भी कहते हैं।
अमिताभ अपने आप मे एक ऐसी शख्सियत है, जो भारत के साथ देश-विदेशों मे भी प्रसिद्ध है, हर वर्ग का आदमी चाहे बच्चा हो या बुढा सभी इनको बेहद पसंद करते है. इनके अनगिनत चाहने वाले है, इनकी अदा, इनकी आवाज, इनकी एक्टिंग का हर कोई दीवाना है.
यही नहीं  इनका व्यवहार जो हर किसी से एक सा है, और ये अपने फैन्स के लिये हर रविवार समय निकाल कर उन सभी से मिलने अपने घर के बाहर आते है. इनको बॉलीवुड का किंग या शहंशाह तथा महानायक  जैसी कई उपाधियां दी गई है.
इंग्लिश के साथ इनकी हिन्दी भी बहुत अच्छी है हम यदि यह कहे कि यह बॉलीवुड का अहम हिस्सा है या इनसे बॉलीवुड शुरू होता है, तो भी अतिशियोक्ति नही होगी. यह एक बहुत अच्छे एक्टर, सिंगर, लेखक, एंकर, निर्देशक और उससे भी ज्यादा बहुत अच्छे इंसान है. इनकी पहली आय मात्र तीन सौ रूपये थी जोकि आज करोड़ो मे बदल गई है.
सदी के इस महानायक ने भी राजनीति में भी अपना कदम बढ़ाया था वे राजीव गांधी के करीबी दोस्‍त थे इसलिये उन्‍होंने कांग्रस पार्टी जॉइन की थी और इलाहाबाद से  आठवें आम चुनाव में ताकतवर नेता एच एन बहुगुणा को हराया था। लेकिन उन्‍हें यह राजनीति का संसार बहुत भाया और उन्‍होंने मात्र तीन साल में इससे अलविदा ले लिया।

अमिताभ बच्चन की शिक्षा (EDUCATION INFORMATION)  

इनके पिता ने उस समय मे इंग्लिश से एम.ए किया था, जिससे इनके घर में बचपन से शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया गया. इनकी भी पढ़ाई मे उतनी ही रूचि थी, यह बहुत ही होशियार थे. इन्होंने प्रारंभिक शिक्षा ज्ञान प्रबोधिनी, बॉयस हाई स्कूल इलाहाबाद से प्राप्त की थी. उसके बाद शेरवुड कॉलेज, नैनीताल से हाईस्कूल तक की शिक्षा प्राप्त की थी. इसके बाद की शिक्षा इन्होंने किरोड़ीमल कॉलेज,दिल्ली से पूरी की, यहाँ इन्होंने बैचलर ऑफ साइंस एंड आर्टस की डिग्री प्राप्त की है.

अमिताभ बच्चन का करियर (CAREER OF AMITABH BACHCHAN)

अपनीपढ़ाई दिल्ली से पूरी करने के बाद यह कलकत्ता गये, इन्होंने वहा सात साल काम किया उसके बाद ये मुम्बई आ गये. आज से लगभग पचास साल पहले काम की तलाश मे यह “सपने के शहर” मुम्बई आये थे. इन्होंने तीन मुख्य रूप से अपने जीवन को जिया था, जिसमे इनको अच्छे और बुरे दोनों तजुर्बे मिले खासतौर पर इन्होंने फिल्मों मे काम किया, उसके बाद टेलीविजन मे फिर कुछ समय राजनीति मे सक्रीय रहे.

फिल्मों मे करियर

इन्होंने सन् 1969 मे बॉलीवुड मे कदम रखा .इन्होंने यहाँ का माहौल देख कर कहा “ मैं यहाँ फिल्मों मे काम की तलाश मे आया था पर शुरुवात मे तो यह एक मैदान की तरह लगा” इन्होंने सन् 1969 मे सबसे पहले “भुवन शोम” नाम की एक फिल्म मे अपनी आवाज दी थी. इस फिल्म को कई अवार्ड मिले थे. इसी के साथ सात हिन्दुस्तानी से मुख्य रूप से इनके करियर की शुरुवात हुई थी.

इनका मानना था कि हमे काम की तलाश मे डोर टू डोर जाना पड़ता था, जिससे भविष्य मे एक अच्छे करियर का निर्माण हम कर पाए. उनके हिसाब से फिल्म जगत के दरवाजे खोलने के लिये खुद मेहनत करना बहुत जरुरी है. इनके लिये वह सुबह जल्दी उठते थे और स्टूडियो पर जाया करते थे और कहते थे में अपनी किस्मत अपना चेहरा अपनी आवाज को अजमा रहा हूँ.

किसी को नही पता था यह नौजवान इतनी आगे जायेगा, आज तक इन्होंने लगभग दौ सौ से भी ज्यादा फिल्मों मे काम किया है. इनको “बॉलीवुड का भगवान”(Godfather of Bollywood) की उपाधि दी गई है.
इन्होंने शुरुवाती दौर मे सन् 1969 से सन् 1972 तक बहुत ज्यादा मेहनत की पर एक भी हिट फिल्म नही दे सके इनकी सभी फिल्मे फ्लॉप होती गई. सन् 1973 मे उन्होंने जंजीर फिल्म मे काम किया, जिसमे उन्होंने एक ईमानदार पुलिस इंस्पेक्टर के रूप मे विजय खन्ना का रोल अदा किया.
तब इन्होंने कहा मुझे खुद यकीन नही हो रहा था कि क्या देख कर मुझे मुख्य रोल अदा करने के लिये कहा गया. तब निर्देशक प्रकाश मेहरा और जावेद अख्तर, सलीम खान से इन्होंने इस बात को पूछा और उन्होंने जवाब दिया कि उन्होंने इनकी कई फिल्मों को बार-बार देखा तथा उनके काम करने का तरीका इन लोगों को बहुत पसंद आया इसलिये इन तीनों ने फैसला किया कि इस फिल्म मे मुख्य भूमिका इनकी ही होगी
इनकी फिल्मों मे से प्रमुख फिल्मों को अलग करना बहुत मुश्किल है इनकी अनेक फिल्में है जो हिट हुई है. ये एक ऐसे अभिनेता है जिन्होंने 70 के दशक से लेकर आज तक हर वर्ष कोई ना कोई हिट फिल्म दी है. 

अमिताभ बच्चन का लुक (LOOKS OF AMITABH BACHCHAN)

अमिताभ बच्चन के लुक की पूरी दुनिया दीवानी है. यह एकमात्र ऐसे एक्टर है जो , 75 वर्ष की उम्र पार कर लेने के बाद भी, अपने लुक और फिटनेस पर बहुत ध्यान देते है. इनके लुक की संक्षिप्त जानकारी इस प्रकार है
रंग (Color) गोरा
लम्बाई (Height) 6.1 Fit
बॉडी साइज (Body size) चेस्ट- 40 इंच, वेस्ट- 32, बायसेप- 14 इंच
वजन (Weight) 80Kg
बालों का रंग (Hair Colour) सफेद
आखों का रंग(Eye Colour) काला

 

अमिताभ बच्चन का राजनीति मे करियर

1982 में अमिताभ बच्चन  कुली मूवी की शूटिंग के समय घायल हो गए थे लेकिन कुछ समय बाद वो ठीक हो  गए थे पर यहाँ इन्होंने काम करना कम कर दिया. उसी बीच इनको सन् 1984  मे संसद मे एक बॉलीवुड स्टारडम की सीट के लिये प्रस्ताव आया और उन्होंने स्वीकार भी कर लिया, लेकिन बाद में  विवाद मे फस जाने के करण इन्होंने यह सीट छोड़ दी.

अमिताभ बच्चन ब्रांड अम्बेसिटर लिस्ट (AMITABH BACHCHAN’S BRAND AMBASSADOR LIST)

  • गुजरात टूरिज्म
  • पल्स पोलियो
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • कैडबरी
  • जस्ट डाईल
  • इको फ्रेंडली क्लीनिंग प्रोडक्ट
  • तनिष्क लेटेस्ट टीवीसी
  • पारकर
  • कल्याण ज्वेलरस्मा
  • मारुती सुजुकी कार
  • नवरतन तेल
  • जेन मोबाइल

इन्हे भी पढ़े  – 

Latest article

More article